Nandamuri Balakrishna Full Life Story

Nandamuri Balakrishna का जन्म 1960 में चेन्नई में हुआ था, वह एक इंडियन फिल्म एक्टर और पॉलिटिशियन हैं जिन्होंने 100 से भी ज्यादा तेलुगु फिल्म में 40 साल तक काम किया और इसमें उन्होंने कई अलग-अलग तरह के रोल भी किए उन्होंने अपनी एक्टिंग से कई सारे अवॉर्ड्स हासिल किए। बाला कृष्णा 2014 से आंध्र प्रदेश एमएलए हैं उनके पिता आंध्र प्रदेश के चीफ मिनिस्टर रह चुके हैं जिन्होंने करीब 7 साल तक चीफ मिनिस्टर की कुर्सी संभाली।

Nandamuri Balakrishna ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत 1974 से कर दी थी उसके बाद उन्होंने कई सारी फिल्मों में काम किया और वह सभी फिल्में सक्सेसफुल रहे जिसके बाद को तेलुगू इंडस्ट्री में एक लीडिंग एक्टर बन गए।

  • Born – 10 June 1960 Chennai, India
  • Residence –Hyderabad Andhra Pradesh, India
  • Nationality – Indian
  • Occupation – Actor, Politician
  • Parents – N.T. Rama Rao, Basavatarakam
  • Wife – Vasundhara Devi
  • Awards – Nandi award
  • Education – Bachelor Of Commerce
  • Website Instagram

Nandamuri Balakrishna की पहली की जिंदगी।

Nandamuri Balakrishna का जन्म 10 जून 1960 को हुआ था मद्रास में जो अब चेन्नई कहा जाता है उनके पिता आंध्र प्रदेश के चीफ मिनिस्टर रह चुके हैं और उनकी माता का नाम basavatarakam है। वह बचपन से ही मद्रास सिनेमा में काम कर रहे थे उसके बाद वह हैदराबाद को आ गए जब तेलुगू फिल्म इंडस्ट्री हैदराबाद में शिफ्ट कर गई उसके बाद उन्होंने निजाम कॉलेज से बैचलर की डिग्री हासिल की जिसके बाद 1982 में 5 साल की उम्र में बाला कृष्णा की शादी है वसुंधरा देवी के साथ हो गई और उनके तीन बच्चे भी हैं।

Nazia Hussan Biography

Nandamuri Balakrishnaका मूवी करिए।

Balakrishna 16 साल की उम्र से एक्टिंग की शुरुआत करदी थी उन्होंने अपनी पहली फिल्म tatamma kala में काम किया था 16 साल की उम्र में जिसके बाद 1984 में उन्हें हीरो का रोल मिला जिसके बाद उन्होंने एक के बाद एक सुपरहिट फिल्मों में काम किया और उन्होंने जितनी मूवी में काम किया वह सभी मूवी सक्सेसफुल रहे जिसके बाद उन्होंने करीब 40 सालों तक तेलुगू इंडस्ट्री में काम किया।

Nandamuri राजनीति में।

जब से तेलुगू देशम पार्टी की शुरुआत की गई Nandamuri Balakrishna सभी इलेक्शन में पार्टी का प्रचार किया लेकिन कभी भी खुद इलेक्शन के लिए खड़े नहीं हुए लेकिन उन्होंने 2014 में हिंदूपुर कांस्टीट्यूएंसी इलेक्शन लड़ा और उन्होंने जीत हासिल की और वही से उन्होंने अपनी पॉलीटिकल करियर की शुरुआत कर दी।